bootstrap web page development software download

जन आक्रोश धरना

दिनांक 28 फरवरी 9:30-20:00

नलों में सीवर के पानी की सप्लाई और सड़कों पर बहते गन्दे पानी के खिलाफ 'जन आक्रोश धरना' 28.02.2017,C2B जल बोर्ड के दफ्तर पर प्रातः 09:30 बजे

जनकपुरी और आस-पास के क्षेत्रों में लोग लगभग 1970 के दशक से रह रहे हैं | इस क्षेत्र में सीवर,पानी और बिजली की लाइनें इतनी पुरानी हैं कि इस पर बढ़ते दवाब की वजह से यह क्षत-विक्षत हो चुकी है,जिसके परिणामस्वरूप हर एक ब्लॉकों में गन्दे पानी की सप्लाई होती है और सीवर का गन्दा पानी सड़कों पर सर्वत्र पसरा रहता है |

दिल्ली में पन्द्रह वर्षों तक कांग्रेस के शासनकाल में मुख्यमन्त्री ही जल-बोर्ड की चेयरमैन थीं,जो दिल्ली को सिंगापुर बनाने का दावा करती थीं | वर्तमान में 'आप' की सरकार भी सुधार के बड़े-बड़े दावे तो करती है,परन्तु अपने दो वर्षों के शासनकाल में उसने भी इस दिशा में किसी प्रकार का कोई प्रयास नहीं किया | यहां के विधायक श्री राजेश ऋषि ने भी इस समस्या की ओर कोई ध्यान नहीं दिया और सारा-का-सारा दोष नगर निगम का बताकर इन समस्याओं से किनारा कर लिया |

अतः आप सभी से यह निवेदन है कि प्रस्तावित धरना में भारी-से-भारी संख्या में पहुंच कर क्षेत्रीय विधायक एवं आम आदमी पार्टी की नाकामियों के खिलाफ आवाज उठाएं |

दिनांक : 28 फरवरी 9:30-20:00
स्थान : C2B जल बोर्ड के दफ्तर पर (जनकपुरी)